गुना: क्या पिछली हार का हिसाब बराबर कर पाएंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया

वो साल 2018 था जब कई दशकों के बाद कांग्रेस को मध्य प्रदेश विधानसभा के चुनावों में अच्छी ख़ासी जीत मिली थी.

कांग्रेस ने प्रदेश में सरकार बनाई और इस जीत का सेहरा ज्योतिरादित्य सिंधिया के सिर पर बंधा, इसलिए क्योंकि वो पूरा चुनाव ‘शिवराज बनाम महाराज’ ही था.

ग्वालियर राजघराने का मध्य प्रदेश के ग्वालियर और चंबल संभाग में दबदबा तो रहा ही है, मगर 2018 के विधानसभा के चुनावों में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस को जीत दिलाने के लिए पूरे प्रदेश में जमकर प्रचार किया था.

मगर प्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं बन पाए और संगठन ने कमलनाथ के हाथों में प्रदेश की बागडोर को सौंप दिया था.

अगले ही साल, यानी 2019 में सिंधिया राजघराने का लगातार मज़बूत गढ़ रही गुना की लोक सभा की सीट से सिंधिया ने चुनाव लड़ा था.

मगर तब कांग्रेस में उनके करीबी रहे केपी यादव भारतीय जनता पार्टी में चले गए. उन्होंने गुना सीट पर ज्योतिरादित्य के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की.

अटकलें लगाई जाने लगी थीं कि शायद कांग्रेस पार्टी उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बना दे या फिर उन्हें राज्यसभा भेज देगी. मगर उनकी जगह दिग्विजय सिंह को तरजीह दी गयी.

2019 की हार से वो और उनके समर्थक भी अचम्भे में आ गए थे क्योंकि जब 2014 में नरेंद्र मोदी की पूरे देश में लहर चल रही थी और कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं को लोकसभा चुनावों में हार मिली थी, तब भी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुना की सीट पर जीत दर्ज की थी.

पंकज चतुर्वेदी सिंधिया के साथ कांग्रेस पार्टी में हुआ करते थे. वो कहते हैं कि इस संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि ‘कांग्रेस के अन्दर उनके ख़िलाफ़ चल रहे षड्यंत्र की वजह से उन्हें हरवाया गया था.’

वो कहते हैं कि 2019 में मिली हार और ‘कांग्रेस द्वारा किये गए अपमान से क्षुब्ध सिंधिया’ ने अपनी पुरानी पार्टी से नाता तोड़ लिया और भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए.

उनके साथ उनके समर्थक 22 कांग्रेस के विधायकों ने पाला बदलकर भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया.

इसके बाद कमलनाथ की सरकार गिर गई और उपचुनाव के बाद उनके समर्थन वाले विधायक दोबारा बीजेपी के टिकट पर चुनकर आये.

उनमें से 19 को शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल में शामिल कर लिया गया. भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें राज्यसभा भेजा और उन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह भी दी.

  • S S VERMA

    Related Posts

    #स्वाति मालीवाल का ‘राजनीतिक हिटमैन’ की ओर इशारा, आतिशी बोलीं – ‘स्वाति हैं बीजेपी के षड्यंत्र का चेहरा’

    हर बार की तरह इस बार भी इस राजनीतिक हिटमैन ने ख़ुद को बचाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं.” सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ पर आम आदमी पार्टी की राज्यसभा…

    #फ़ैज़ाबाद सीट: बीजेपी को अयोध्या राम मंदिर तो इंडिया ब्लॉक को दलित वोटरों से उम्मीद

    लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में 20 मई को जिन सीटों पर मतदान होना है उनमें से एक सीट उत्तर प्रदेश के फ़ैज़ाबाद की भी है. ज़ाहिर है, इसी साल…

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    You Missed

    #स्वाति मालीवाल का ‘राजनीतिक हिटमैन’ की ओर इशारा, आतिशी बोलीं – ‘स्वाति हैं बीजेपी के षड्यंत्र का चेहरा’

    #स्वाति मालीवाल का ‘राजनीतिक हिटमैन’ की ओर इशारा, आतिशी बोलीं – ‘स्वाति हैं बीजेपी के षड्यंत्र का चेहरा’

    #Tata की दुकान पर ताला लगायेगी Mahindra की नई Bolero, ताकतवर इंजन और तूफानी फीचर्स के साथ देखे कीमत

    #Tata की दुकान पर ताला लगायेगी Mahindra की नई Bolero, ताकतवर इंजन और तूफानी फीचर्स के साथ देखे कीमत

    #OnePlus के होश ठिकाने लगा देंगा Samsung का शानदार स्मार्टफोन, 108MP फोटू क्वालिटी देख हो जायेंगे दीवाने

    #OnePlus के होश ठिकाने लगा देंगा Samsung का शानदार स्मार्टफोन, 108MP फोटू क्वालिटी देख हो जायेंगे दीवाने

    #70kmpl माइलेज और टनाटन फीचर्स के साथ Bajaj Platina धाकड़ बाइक, कीमत भी बस इतनी सी

    #70kmpl माइलेज और टनाटन फीचर्स के साथ Bajaj Platina धाकड़ बाइक, कीमत भी बस इतनी सी

    #Punch की वैल्यू कम कर देंगी Maruti की चार्मिंग लुक कार, दमदार इंजन के साथ मिलेंगे ब्रांडेड फीचर्स

    #Punch की वैल्यू कम कर देंगी Maruti की चार्मिंग लुक कार, दमदार इंजन के साथ मिलेंगे ब्रांडेड फीचर्स

    #Oppo का काम तमाम कर देंगा Vivo का धांसू स्मार्टफोन, तगड़ी कैमरा क्वालिटी और 44W फ़ास्ट चार्जर, देखे कीमत

    #Oppo का काम तमाम कर देंगा Vivo का धांसू स्मार्टफोन, तगड़ी कैमरा क्वालिटी और 44W फ़ास्ट चार्जर, देखे कीमत